वृक्ष सुधार और आनुवंशिकी प्रभाग
पृष्ठभूमि
वृक्ष सुधार और आनुवंशिकी (टीआईजी( प्रभाग चयनित प्रजातियों, प्लांटिंग स्टॉक की उत्पादकता में सुधार और जर्मप्लाज्म के संरक्षण के लक्ष्य की प्रभाग पारंपरिक और जैव प्रौद्योगिकी दोनों तरीकों से प्लांटिंग स्टॉक के सुधार पर काम करता है। यह प्रभाग बीज उत्पादन क्षेत्रों, अंकुर बीज बगीचों और क्लोनल बीज बगीचों की स्थापना दिशा में काम करता रहा है। यह प्रभाग बीज की गुणवत्ता में सुधार के लिए प्रयासरत है और आनुवंशिक रूप से विकसित क्लोनल प्लांटिंग पदार्थ को एक स्रोत के रूप में वनस्पति गुणत (Multiplication) गार्डन स्थापित करता है।
इस प्रभाग में आधुनिक नर्सरी पद्धति और महत्वपूर्ण पेड़ तथा बांस प्रजाति के लिए दीर्घ संचरण प्रोटोकॉल विकसित की गई है। क्लोनल वानिकी हेतु पेड़/क्लोन/ बेहतर जीनोटाटप के क्लोनल प्लांटिंग मेटीरियल का तेजी से और बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए प्रोटोकॉल के विकास / शोधन हेतु जैव प्रौद्योगिकीउपकरण का उपयोग किया गया है। दीर्घ संचरित पौधों के आनुवंशिक विश्वस्तता का आकलन करने के लिए मोलेक्युलर (molecular) मार्कर आधारित अध्ययन किया जाता है। बीज रखरखाव और भंडारण का अध्ययनमहत्वपूर्ण प्रजातियों के पेड़ पर केंद्रित है। कृषि वानिकी मॉडल, सत्यापन और व्यापक सामंजस्य के लिए चंदन और बांस प्रजातियों पर विकसित किए जा रहे हैं।

लक्ष्य
संरक्षण, प्लांटिंग स्टॉक में सुधार, परिवर्धित उत्पादकता और इस प्रक्रिया के लिए अंत उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार

महत्वपूर्ण क्षेत्र
• पेड़ों की आनुवांशिक सुधार के लिए जैव प्रौद्योगिकी उपकरण
• काष्ठ संशोधन / रोग / कीट कीड़ों का प्रतिरोध के लिए जेनेटिक इंजीनियरिंग।
• इन सीटू और ऑफ सीटू संरक्षण
• रीकालसिट्रेन्स - प्रजातियों पर बीज अध्ययन
• आधुनिक नर्सरी पद्धति का विकास
• ध्वनि माइक्रो / मैक्रो प्रचार प्रौद्योगिकियों का विकास और प्रदर्शन
• कृषि वानिकी पाद्धति का मूल्यांकन औरविकास

अनुसंधान गतिविधियाँ
चंदन काष्ठ परअनुसंधान
प्लांटिंग स्टॉक में सुधार
आधुनिक नर्सरी पद्धति
सागौन (टीक) , नीलगिरी, कैसुरीना और बांस प्रजाती (डेंड्रोकलामस स्टॉक्स और गौडुया अन्गुस्तिफोलिया) के दीर्घ संचरण
जैव प्रौद्योगिकी
आनुवंशिक विश्वस्तता अध्ययन
जर्मप्लाज्म बैंक
बीज अध्ययन
क्षेत्र परीक्षण
कृषि वानिकी

चलाए जा रहे अनुसंधान कार्यक्रम
1. बाँस- बम्बूसा बंबोस और डेंड्रोकलामस स्टॉक्स के दीर्घ संचारित पौधों की आनुवंशिक विश्वस्तता पर अध्ययन।
2. इन-विट्रो प्रचार, सख्त, क्लोन पौधों के उत्पादन और चंदन के फील्ड ट्रायल (संतालम एल्बम एल) की स्थापना के लिए प्रोटोकॉल के पैमाने पर अध्ययन।
3. कर्नाटक में बबूल संकर आधारित कृषि वानिकी पद्धति में उत्पादकता और परस्पर अध्ययन
4. कर्नाटक के मंड्या जिलेमें एक पारंपरिक नंदी आधारित कृषि वानिकी प्रणाली के पारिस्थितिकी, आर्थिक और सामाजिक-सांस्कृतिक मूल्यांकन।
5. अविकसित आबादी में बीज की गुणवत्ता, बीज उत्पादन क्षेत्रों और टेक्टोना ग्रंडिस के बीज बगीचों का आकलन।
6. बीज परिवर्तनशीलता, प्रचार और केनेरियम स्ट्रीटमरोक्स्ब के एक्स-सीटू संरक्षणऔर हाइडनोकार्पस पेंटेंड्रा (बूच- हैम ) ओकेन- आशंकित औषधीय वृक्षपर अध्ययन।
7. हार्डविकीय बिनाटा में परिवर्तनशीलता अध्ययन - कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में एक बहु उद्देशीय वृक्ष प्रजाति।
8. कर्नाटक में ग्मेलिना अरबोरिया के लिएव्यापक पेड़ सुधार कार्यक्रम-चरण 1-संतति परीक्षण ।
9. चयनित पांच व्यावसायिक रूप से महत्वपूर्ण बांस प्रजाति के माइक्रो और मैक्रो के फैले हुए प्लांटिंग स्टॉक के क्षेत्र प्रदर्शन।
10. बांस स्थानिक परीक्षण।
11. कर्नाटक में गुआदुया अन्गुस्तिफोलिया कूंथ के लिए वृद्धि क्रिया का प्रदर्शन और प्रबंधन के पद्धतियों के मानकीकरण का आकलन करने पर अध्ययन।
12. चंदन की (संतालम एल्बम एल) जर्मप्लाज्म का संरक्षण, गुणवत्ता प्लांटिंग स्टॉक का उत्पादन और चंदनकृषि पद्धति को बढ़ाव
13. केरल और कर्नाटक में गुआदुया अन्गुस्तिफोलिया कूंथ और डेंड्रोकलामस अस्पर की खेती।
14. कोडगू जिले में बांस की वाणिज्यि खेतीः गुणवत्ता प्लाटिंग मेटरियल (क्यूपीएम) वर्धकक, प्रदर्शन भूखंडों की स्थापना और बांस आधारित मूल्य संवर्धन सुविधाएं।
15. उष्णकटिबंधीय सदाबहार वन में संरचना, विविधता और अंकुरण सिंड्रोम - कर्नाटक के पश्चिमी घाट के स्थायी संरक्षण भूखंडों का उपयोग कर एक मामले का अध्ययन।
16. बूचानिया इंजान स्प्रेंगऔर डायोपाइरस मेलानोक्सिलोनरोक्स्ब में बीज सुप्तावस्था और अंकुरण व्यवहार।
17. पी स्टोक्क्सी,डी ब्रांडीसी,और गुआदुयाअन्गुस्तिफोलिया की गुणवत्ता पौधों के उत्पादन के लिए वनस्पति प्रचार केंद्र (वीपीसी )।
18. क्लोरोक्सिलोन स्वीटेनिया में सीड स्टैंड्स और कैंडिडैट प्लस पेड़ों का वितरण, प्राकृतिक उत्थान तथापहचान।
19. आंध्रप्रदेश, कर्नाटक और गोवा में छह महत्वपूर्ण बांस प्रजातियों अर्थात बम्बूसा बालकुआ,बी न्यूटेंस, डेंड्रोकलामस अस्पर,डी हामिटोनी, गुआदुया अन्गुस्तिफोलिया और सियूडोक्सिटेनन्थेरा स्टोक्की की बहुस्थानिक परिचय एवं प्रदर्शन परीक्षणों और क्षेत्र मूल्यांकन। ।
20. ब्रूनौइर,एम्मेट और टेलर सिद्धांत द्वारा अवशोषक समताप रेखाओं का सैद्धांतिक विश्लेषणऔर बम्बूसा बंबोस और जटरोफा कारकुस के बीज भंडारण के लिए इष्टतम परिस्थितियों का मानकीकरण ।
21. बांस सुधार; प्रसार, कृषि वानिकी मॉडल, संरक्षण, प्रसंस्करण और उपयोग का एकीकृत दृष्टिकोण ।
22. बुनियादी ढांचे के उन्नयन द्वारा बांस की गुणवत्ता प्लांटिंग स्टॉक की उत्पादन क्षमता का परिवर्धन ।
23. इम्बेलिया राइब्स बर्न. एफ के आरएपीडी विश्लेषण के माध्यम से क्लोन प्रजनन तकनीकों और आणविक लक्षण का विकास।

सम्पन्न अनुसंधान परियोजनाएँ
1. गोवा के महत्वपूर्ण वन्य प्रजातियों- बम्बूसा बंबोस, डेंड्रोकलामस स्ट्रिक्टस, टर्मिनालिया टोमेंटोसा, एक्सिलिया एक्सिलोकर्पा और माइरिस्टिका फ्रेग्रेंसमें आधुनिक नर्सरी तकनीक का विकास।
2. सियूडोक्सिटेनन्थेरा स्टोक्की के सूक्ष्मप्रवर्धन,क्षेत्र मूल्यांकन और संरक्षण पर अध्ययन।
3. चंदन और लाल चंदन के तीव्र क्लोन प्रजनन के लिए प्रोटोकॉल के शोधन; आनुवंशिक विश्वस्थता (fidelity) और क्षेत्रीय प्रदर्शन का मूल्यांकन।
4. बम्बूसा पल्लीडामुनरो और फिलोस्टेचिस बम्बूसोइडेस जुक्क. के तीव्र और बड़े पैमाने पर क्लोन प्रजनन के लिए प्रोटोकॉल के विकास।
5. कर्नाटक में सागौन (टीक) का क्लोनल बीज ओर्चार्ड में परिघटनात्मक अध्ययन।
6. शुष्क क्षेत्रों में एक महत्वपूर्ण जैव ईंधन प्रजातियों- जटरोफा कार्कस की जेनेटिक छानबिन।
7. कर्नाटक और आंध्रप्रदेश में कृषि वानिकी पद्धति में सागौन (टीक) (टेक्टोना ग्रंडिस) के उत्पादकता और प्रबंधन पर अध्ययन।
8. भंडारण में बीज- चंदन (संतालम एल्बम एल) के व्यवहार्यता परीक्षण और व्यवहार्यता के समय को बढ़ाने और मजबूती के लिए प्रोटोकॉल का मानकीकरण।
9. आईसोएंजाइम मार्कर का उपयोग कर ऐंगल मारमेलोस कोरर. के आनुवंशिक परिवर्तनशीलता और संगम पद्धति विश्लेषण का मूल्यांकन।
10. पश्चिमी घाट के कुछ आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण प्रजातियों पर बीज अध्ययन।
11. बीज स्रोत भिन्नता, वृक्षों की आयु निर्धारण और चंदन में जर्मप्लाज्म बैंक की स्थापना पर अध्ययन।
12. चंदन और नीलगिरी के चयनित क्लोन के प्रकाश संश्लेषण में भिन्नता।
13. हार्ट वूड पदार्थ,तेल की मात्रा और अन्य रूपात्मक प्रकृति के विशेष संदर्भ में विविध मूल के चंदन (संतालम एल्बम एल)परिग्रहण के मूल्यांकन और लक्षण वर्णन ।
14. पोंगमिआ पिन्नाटा कीछानबिन,क्लोन प्रजनन, एक्स सीटू संरक्षण और आनुवंशिक सुधार।


प्रदत्त सेवाएं

क्रम सं.

परीक्षण का नाम

प्रभार

1.

नर्सरी में उगाए जाने वाले चंदनके पौधे की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए और चंदनएवं बांस के बागानों की स्थापना में अंत्य उपयोगकर्ताओं को जानकारी प्रदान करना ।

 

2.

चंदन और बांस की बीज और पौधे उपलब्ध कराना।

 

3.

पादप जैव प्रौद्योगिकी में प्रशिक्षण सहायता

 

4.

बी. एससी. और एम. एससी. के पादप जैव प्रौद्योगिकी छात्रों के लिए परियोजना कार्य ।

 

5.

डाक द्वारा विशेष जानकारी।

 

 

परामर्शी:

 मुख्यालय में नियमित मामलों के लिए परामर्शी

वैज्ञानिक

सहायक कर्मचारी

 

रु. 1000/- प्रतिदिन

रु. 300/- प्रतिदिन

वैज्ञानिक / कर्मचारी को मुख्यालय के बाहर आमंत्रण पर परामर्शी

वैज्ञानिक

सहायक कर्मचारी

 

रु.2,000/ - प्रतिदिन

रु. 500/-प्रतिदिन



सुविधाएँ और उपकरण
इस प्रभाग में उपयोगकर्ता उद्योगों और सरकारी तथा गैर-सरकारी संगठनों को सेवाएं प्रदान करने के लिए निम्नलिखित सुविधाएँ और उपकरण उपलब्ध हैं :
• टिशू कल्चर प्रयोगशाला
• मोलाक्युलर जीवविज्ञान प्रयोगशाला
• बीज प्रौद्योगिकी प्रयोगशाला
• मृदा एवं पादप विश्लेषण प्रयोगशाला
• ग्रीन हॉउस
• शेड हॉउस
• आधुनिक अनुसंधान एवं विकास और नर्सरी की छोटे पैमाने पर उत्पादन सुविधा
• विशेषज्ञता
• वृक्ष सुधार
• बीज प्रौद्योगिकी
• पादप जैव प्रौद्योगिकी
• कृषि वानिकी
•संवर्धन
• आनुवंशिकी

अनुसंधान कर्मचारी:
डॉ. श्याम विश्वनाथ, वैज्ञानिक-एफ
डॉ. गीता जोशी, वैज्ञानिक-एफ और प्रभाग प्रधान
डॉ. ए.एन. अरुण कुमार, वैज्ञानिक-ई
डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव, वैज्ञानिक-ई
डॉ. एन.रवि, वैज्ञानिक - डी
डॉ. टी.एन. मनोहरा, वैज्ञानकि-डी
श्री एच.सी.सिंधुविरेन्द्र , वैज्ञानिक बी
• डॉ. पी. सोमशेखर, अनुसंधान सहायक, ग्रेड -I
• श्री के. एस. सुदर्शन, अनुसंधान सहायक, ग्रेड -II
• सुश्री अल्मास खन्न्म, अनुसंधान सहायक, ग्रेड II (जनरल)
• श्री संदीप चक्रबर्ती, अनुसंधान सहायक, ग्रेड II (जनरल)
• सुश्री सी.एन. श्रीदेवी, टीए ग्रेड- सी (जनरल)
• श्री एल.मंजुनाथ, टीए ग्रेड- सी (जनरल)
• श्री अनिल कुमार, नर्सरी परिचर
• श्री वी.जी.वेंकटेश मूर्ति, नर्सरी परिचर
• श्री ए.एन.मंजुनाथ, नर्सरी परिचर

अधिक जानकारी के लिएकृपया संपर्क करें:
प्रधान
वृक्ष सुधार और आनुवंशिकी प्रभाग
काष्ठ विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान
पोस्ट- मल्लेश्वरम
बेंगलुरू-560 003 भारत
ई-मेल: tip_iwst@icfre.org
टेलीफोन: + 91-80-22190157, 080-22190161
 
   
  मुख्य पृष्ठ | संस्थान के बारे में | अनुसंधान गतिविधियाँ |अकादमिक | प्रकाशन | सुविधाएं | सेवाएं और परामर्श | विस्तार गतिविधियाँ | प्रशिक्षण | डाटाबेस| निविदा| उन्नत काष्ठकारी प्रशिक्षण केंद्र | अनुसंधान की स्थिति | आगामी आयोजन | फोटो गैलरी | संबंधित लिंक | आरटीआई | एफएक्यू | पूछें |संपर्क करें | English Website

Maintained by: Argon Solutions